संदेश

April 11, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मोगालते में नहीं रहे सरकार: संयुक्त वाम मोर्चा

चित्र
मोगालते में नहीं रहे सरकार: संयुक्त वाम मोर्चा
पटना। संयुक्त वाम मोर्चा द्वारा 11 अप्रैल को बिहार विधानसभा के समक्ष एक दिवसीय भुमि अधिग्रहण अध्यादेष, वाम जनवादी एवं लोकतांत्रिक आंदोलनों तथा आंदोलन से जुड़े सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर राजकिय दमन व फर्जी मुकदमा कर जेल भेजने के खिलाफ, हडि़याही(बटाने) नहर परियोजना सहित सरकार प्रायोजित योजनाओं में लुट के खिलाफ, धान क्रय एवं केसीसी में मनमानी एवं फर्जीवाड़ा के खिलाफ, छापेमारी के नाम पर पुलिस द्वारा आम जनता एवं महिलाओं के साथ अषलील हरकत करने के खिलाफ धरना दिया गया। धरना की अध्यक्षता मोर्चा के संयोजक आलोक कुमार एवं संचालन विनोद पाठक ने किया। धरना को संबोधित करते हुए मोर्चा के धटक संगठन के नेताओं ने कहा कि सरकार मोगालते में है और इनके मषीनरी के रूप में कार्य कर रहे पुलिस, प्रषासन व अधिकारी जनविरोधी व कानून विरोधी कार्यो में लिप्त हैं तथा सरकार के इषारे पर न सिर्फ जनआंदोलनों को कुचल रही है बल्कि भुमि अधिग्रहण अध्यादेष जैसे कई काले कानुन का निमार्ण धड़ल्ले से कर रही है जिसे मोर्चा कतई बर्दास्त नहीं करेगी। वक्ताओं ने कहा कि सरकार एक इस्ट इंडि…