एआईएसएफ के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात

 कुलपति रवैया सुधारें और छात्रों से करें बात : सीएम

एआईएसएफ के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात

पटना । मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि पटना विविद्यालय की गतिविधियों पर सरकार की नजर है। उन्होंने कुलपति प्रो. वाईसी सिमाद्री को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि वे अपना रवैया सुधारें और छात्रों से बात करने की पहल करें। मुख्यमंत्री ने ये बातें बुधवार को एआईएसएफ के छात्र प्रतिनिधिमंडल के साथ हुई वार्ता में कहीं। प्रतिनिधिमंडल में शामिल संगठन के राज्य सचिव सुशील कुमार ने वार्ता की जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने छात्रों की समस्याओं पर गंभीरता दिखाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि पीयू के कुलपति को अपने रवैये में सुधार लाना चाहिए और शैक्षणिक माहौल बनाने के लिए छात्रों से बात करनी चाहिए। जब राज्यपाल और मुख्यमंत्री छात्रों से बात कर सकते हैं तो कुलपति क्यों नहीं कर सकते हैं ? छात्रों ने प्राथमिकी दर्ज करने का मामला भी उठाया। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि छात्रों पर किए जाने वाले एफआईआर (धारा-353) को जमानतीय बनाया जायेगा। इसमें संशोधन के लिए बहुत जल्द इसे कैबिनेट में लाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने निजी लॉज पर कहा कि इसके लिए वे नियम बनाएंगे। छात्रों ने मुख्यमंत्री के समक्ष पटना कॉलेज और आर्ट कॉलेज में हॉस्टल आवंटन नहीं करने का भी मामला उठाया। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि छात्रों की मांगें जायज हैं। इन सभी बिंदुओं पर जानकारी विवि से मांगी जाएगी। लागू होगी कॉमन स्कूल पण्राली छात्रों ने मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी से कॉमन स्कूल सिस्टम लागू करने की मांग की। मुख्यमंत्री ने छात्रों की मांगों को जायज बताते हुए कहा कि इससे गरीब -मेधावी बच्चों को लाभ मिलेगा। राज्य में कॉमन स्कूल सिस्टम लागू किया जायेगा। नालंदा कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि वहां की समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। प्रतिनिधिमंडल में एआईएसएफ के राज्य अध्यक्ष परवेज आलम, राज्य सचिव सुशील कुमार, आकाश गौरव, दीपक कुमार, पवन कुमार सहित अन्य छात्र शामिल थे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आज के दिन शहीद हुए थे आजादी के सात मतवाले

भारत छोड़ों आंदोलन के दौरान 11 अगस्त को शहीद हुए थे जगतपति कुमार समेत आजादी के सात मतवाले,

सेक्स और शादी...क्या-क्या नियम बना रखे हैं नक्सलियों ने