75 फीसदी उपस्थिति भी नहीं होगी काफी

75 फीसदी उपस्थिति भी नहीं होगी काफी

कक्षा से गैरहाजिर रहने पर देना ही होगा फाइन
विद्या सागर 
पटना। पटना विवि के छात्र सावधान हो जाएं। वर्ग में आपकी उपस्थिति 75 प्रतिशत रहने के बाद भी गैरहाजिर होने पर फाइन देना होगा। कुलपति द्वारा हाल ही में जारी पत्र में कक्षा में अनुपस्थित रहने पर फाइन का प्रावधान किया गया है। अभी तक छात्रों में यह समझ बनी थी कि 75 प्रतिशत उपस्थिति ही अनिवार्य है और इसे पूरा करने पर फाइन नहीं लगेगा। पीयू के डीन स्टूडेन्ट्स वेलफेयर केएन पासवान का कहना है कि अगर कोई छात्र एक दिन भी अनुपस्थित रहा और उसने आवेदन पहले से विभाग में नहीं दिया तो उसे फाइन भरना ही होगा। पिछले वर्ष तक 75 प्रतिशत उपस्थिति ही अनिवार्य थी। इसमें भी उपस्थिति 60 प्रतिशत तक रहने पर कुलपति अपनी ओर से 15 प्रतिशत अटेंडेंटस देकर फार्म भरने की अनुमति दे देते थे। इस बार कुलपति ने किसी भी स्थिति में 60 प्रतिशत के बाद मेडिकल नहीं देने का आदेश निगर्त किया है। ऐसे में परीक्षा फार्म भरने के लिए 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य हो गयी है। इसके बिना छात्र फार्म भरने से वंचित हो सकते हैं। छात्रों की जेब पर भारी पड़ेगी फाइन 75 प्रतिशत उपस्थिति के बाद भी छात्रों को फाइन देना होगा। अगर कोई छात्र सामान्य कोर्स का है तो उसके नामांकन में 15 सौ से दो हजार रपए लगते हैं। वहीं फार्म भरने में 300 रपए लगते हैं। अब अगर कोई छात्र पूरे सत्र में 30 दिन अनुपस्थित रहा तो उसे कम से कम 1500 रुपये फाइन देना होगा। यह फाइन छात्रों की जेब पर भारी पड़ेगा। पटना विवि में गरीब व मध्यम वर्ग के छात्र पढ़ाई करते हैं। उनके लिए फाइन का यह सिस्टम भारी पड़ने वाला है। फॉर्म भरते वक्त हंगामे की आशंका विवि के इस फैसले से छात्रों में आक्रोश है। पिछले दिनों छात्रों ने विवि में जोरदार हंगामा किया था। इसके बाद 80 प्रतिशत उपस्थित अनिवार्य किये जाने के आश्वासन पर हंगामा थमा था। लेकिन विवि के इस फैसले से परीक्षा फार्म भरते समय फाइन माफी को लेकर जोरदार हंगामा हो सकता है। एआईएसएफ के राज्य सचिव सुशील कुमार ने कहा कि विवि अगर इस फैसले को लागू करेगा तो वह छात्रों का विरोध झेलने को तैयार रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आज के दिन शहीद हुए थे आजादी के सात मतवाले

भारत छोड़ों आंदोलन के दौरान 11 अगस्त को शहीद हुए थे जगतपति कुमार समेत आजादी के सात मतवाले,

सेक्स और शादी...क्या-क्या नियम बना रखे हैं नक्सलियों ने