ख़ून का जवाब स्याही से

ख़ून का जवाब स्याही से

  • 8 जनवरी 2015
पेरिस में शार्ली एब्डो पत्रिका के दफ़्तर पर हमले में 12 लोगों की हत्या के बाद दुनियाभर में लोगों ने कार्टून बनाकर रोष जताया है.
मरने वाले पत्रकारों के लिए लोग सड़कों पर उतरे और उनके समर्थन में चित्र हाथों में लेकर खड़े दिखे.


फ़्रांस के वाणिज्य दूतावास के सामने कई समर्थकों ने मारे गए लोगों के समर्थन में पेंसिल पर केंद्रित कई चित्र दिखाकर अपने दुख और हिम्मत का मुज़ाहिरा किया.

तस्वीर में जहां हमलावर को बंदूक़ ताने दिखाया गया है, वहीं एक व्यक्ति को पेंसिल ताने दिखाया गया है.


एक महिला बहुत ही सरल चित्र हाथ में लिए खड़ी दिखी, जिसमें बंदूक़ का मुक़ाबला पेंसिल कर रही है.
अर्जेंटिना में फ़्रांसीसी दूतावास के बाहर लटकी यह कार्टूननुमा तस्वीर कार्टूनिस्ट की हत्या पर विरोध दर्ज करती दिखी.

लोगों ने न सिर्फ़ सरकारी दफ़्तरों के बाहर कार्टून लगाए बल्कि अमरीका तक में लोगों ने चित्रों के ज़रिए अपनी भावनाएं बयां कीं.


कैलीफ़ॉर्निया में चित्र के ज़रिए मरने वाले पत्रकारों के लिए अपनी संवेदना व्यक्त करती महिला

चरमपंथियों द्वारा मारे गए पत्रकारों को लोगों ने कुछ ऐसे दी श्रद्धांजलि.

लोगों ने न सिर्फ़ काग़ज़ पर अपनी संवेदनाओं का इज़हार किया बल्कि चरमपंथियों की गोली का निशाना बने पत्रकारों के समर्थन में क़लम पकड़े भी दिखाई दिए.

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आज के दिन शहीद हुए थे आजादी के सात मतवाले

भारत छोड़ों आंदोलन के दौरान 11 अगस्त को शहीद हुए थे जगतपति कुमार समेत आजादी के सात मतवाले,

सेक्स और शादी...क्या-क्या नियम बना रखे हैं नक्सलियों ने