भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ सड़क पर निकला राजद, लालू जीप से कार्यकर्ता पैदल


भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ सड़क पर निकला राजद, लालू जीप से कार्यकर्ता पैदल

पटना. भूमि अधिग्रहण बिल, कालाधन वापस लाने सहित अन्य मुद्दों को लेकर राजद मोदी सरकार के खिलाफ रविवार को राजभवन मार्च के लिए निकल पड़े। लालू खुली जीप पर थे, तो कार्यकर्ता पैदल मार्च कर रहे थे। इस मार्च में शामिल होने के लिए प्रखंड स्तर से भी कार्यकर्ता आए हुए थे।

भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ सड़क पर निकला राजद, लालू जीप से कार्यकर्ता पैदल
मार्च में शामिल कार्यकर्ताओं के साथ राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद जेपी गोलंबर पहुंचेंगे। पार्टी के सभी विधायक, नेता और कार्यकर्ता यहां पर एकजुट होंगे. इसके बाद मार्च करते हुए राजभवन तक आयेंगे और राज्यपाल को अपनी मांग से संबंधित ज्ञापन सौपेंगे।
मार्च में शामिल होने के लिए विभिन्न प्रखंडों से कार्यकर्ताओं का पटना शनिवार की शाम से ही आने का सिलसिला शुरू हो गया था। इन सभी को विभिन्न स्थानों पर ठहरने का प्रबंध किया गया था। मार्च के दौरान सभी नेता और कार्यकर्ता हाथों में भाजपा विरोधी नारे लिखे तख्ती लिए हुए थे।
सभी लोग भाजपा और पीएम मोदी के किये झूठे वादों को गिनाते हुए मार्च में निकले। राजद कार्यकर्ता पूरे रास्ते में भाजपा विरोधी नारे लगाते जा रहे हैं। लालू कार्यकर्ताओं को हर खाता में 15 लाख जमा करो, भूमि अधिग्रहण वापस लेने का नारा दिया। कार्यकर्ता सुबह 9 बजे ही गांधी मैदान पहुंच गए। सैकड़ों कार्यकर्ता लालू के घर के बाहर भी डटे रहे। घर से निकलने के बाद लालू ने ओपेन जिप्सी पर खड़े होकर कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। साथ ही उनकी हौसलाअफजाई भी की। लालू के साथ उनके बेटे तेजस्वी यादव भी थे। इसके बाद वे पार्टी के नेताओं के साथ गांधी मैदान पहुंचे, जहां से पहले हजारों की संख्या में कार्यकर्ता उनका इंतजार कर रहे थे। लालू प्रसाद के आते ही कार्यकर्ता जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। कार्यकर्ताओं के हाथ में केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध कर रहे बैनर थे। इसके बाद लालू के नेतृत्व में कार्यकर्ता मार्च करते हुए राजभवन की ओर रवाना हो गए। इधर, बड़ी भीड़ को देखते हुए पुलिस-प्रशासन ने पूरी मुस्तैदी बरत रखी है। चप्पे-चप्पे पर वरीय पुलिस अधिकारी व दंडाधिकारी की तैनाती की गई है। गांधी मैदान से राजभवन तक के रास्ते को खाली कर दिया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आज के दिन शहीद हुए थे आजादी के सात मतवाले

भारत छोड़ों आंदोलन के दौरान 11 अगस्त को शहीद हुए थे जगतपति कुमार समेत आजादी के सात मतवाले,

सेक्स और शादी...क्या-क्या नियम बना रखे हैं नक्सलियों ने