श्याम सबसे अधिक वोट से तो नंदू कम अंतर से जीते

श्याम सबसे अधिक वोट से तो नंदू कम अंतर से जीते

मोकामा में अनंत सिंह को जनता ने फिर पहनाया ताज

जिले में लम्बे अरसे बाद कांग्रेस का खुला खाता

बीजेपी के सहयोगी नहीं जीत सके एक भी सीट

दानापुर फतह करने में आशा के छूटे पसीने

भाजपा ने जिले में जीती 7 सीटें, राजद- 4, जदयू-कांग्रेस को मिली 1-1 सीटें,

 एक पर निर्दलीय ने मारी बाजी

 

विद्या सागर

पटना। जिले में भाजपा ने अपनी बादशाहत बरकरा रखी। 14 विधानसभा क्षेत्र में भाजपा ने 7 विधानसभा में जीत का परचम लहराया। वहीं राजद ने 4 सीटों पर जीत दर्ज की। लम्बे अरसे बाद पटना जिले में कांग्रेस का खाता खुला। कांग्रेस विक्रम विधानसभा से जितने में सफल रही। वहीं जदयू को 1 सीट से ही संतोष करना पड़ा। नीतीश व लालू के खास मंत्री श्याम रजक ने फुलवारी विधानसभा से जिले में सबसे अधिक मतों से जितने वाले प्रत्याशी बने। श्याम रजक ने रिकॉड 45581 मतों से विजय श्री का माला पहना। वहीं जिले में सबसे कम अंतर से जितने वाले में भाजपा के विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष नंदकिशोर यादव रहे। नंदकिशोर यादव मात्र 2779 मतों से जीते। यहां कभी नंदकिशोर यादव के सहयोगी रहे संतोष मेहता इन्हें जितने में पसीना छुडवा दिया। मोकामा विधानसभा की जनता ने छोटे सरकार के नाम से विख्यात अनंत सिंह को एक बार फिर ताज पहनाया है। मोकामा फतह करने में कामयाब अनंत सिंह कामयाब रहे। 18348 मतों से चुनाव जिते। पटना में सबसे ज्यादा मतों से जितने वाले प्रत्याशी में दूसरे स्थान पर विक्रम से कांग्रेस के सिद्धार्थ रहे। 44328 मतों से विजयी हुए। तीसरे स्थान सबसे रिकॉड मतों से जितने वाले बांकीपुर से भाजपा के नितिन नवीन रहे। ये 39767 मतों से जीते। चौथे स्थान पर रिकॉड मतों से जितने वाले में मसौढ़ी विधानसभा से राजद की रेखा देवी रही। ये 39186 मतों से विजयी हुई। रिकॉड मतों से जितने वालों में कुम्हरार भाजपा के अरूण कुमार सिन्हा 37275 मतों से, फतुहा से 30402 वोटों से राजद के डॉ. रामानंद यादव, दीघा से भाजपा के संजीव चौरसीया 24779, पालीगंज से राजद के जयवर्धन यादव 24453 मतों से विजयी, मनेर से 22828 वोटों से जिते राजद के भाई विरेन्द्र रहे। चुनाव जितने के लिए अगर सबसे अधिक नंदकिशोर यादव के बाद किसी को पसीना बहाना पड़ा तो वो दानापुर से भाजपा विधायक आशा देवी रहीं। ये 15 राउंड की गिनती तक दस हजार से अधिक मतों से पिछे थी। वहीं बाढ़ विधानसभा क्षेत्र से ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू को चुनाव जितने में पसीने छूट गये। ये मात्र 8359 मतों से जीते।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आज के दिन शहीद हुए थे आजादी के सात मतवाले

भारत छोड़ों आंदोलन के दौरान 11 अगस्त को शहीद हुए थे जगतपति कुमार समेत आजादी के सात मतवाले,

सेक्स और शादी...क्या-क्या नियम बना रखे हैं नक्सलियों ने