इरोम शर्मिला के समर्थन में बंदियों का धरना 10 वें दिन भी जारी

इरोम शर्मिला के समर्थन में बंदियों का धरना 10 वें दिन भी जारी

औरंगाबाद। इरोम शर्मिला के समर्थन में 7 नवंबर से धरना पर बैठे बंदियों का धरना 11 वें दिन भी जारी रहा। बंदी प्रमोद मिश्रा, नथुनी मिस्त्री, विवेक यादव, अवधेश यादव ने कहा कि इरोम को सरकार न्याय नहीं दे रही है। प्रकरण लोकतांत्रिक धर्मयुद्ध है। पुलिसिया दमन से इज्जत बचाने के लिए वह संघर्ष कर रही है। यह लड़ाई तब तक चलती रहेगी जब तक न्याय नहीं मिल जाता है। बंदियों ने कहा कि इरोम के समर्थन में हम साथ खड़े हैं। न्याय के लिए संघर्ष करते रहेंगे। हम किसी भी कीमत पर लोकतंत्र की हत्या नहीं होने देंगे। द्रौपदी का चीरहरण होते नहीं देख सकते। इरोम सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम के विरोध में आंदोलन कर रही हैं, जो देश हित में है। राजेश्वर पांडेय, नारायण सिंह, रामदयाल दास, फिरोज खान, छोटू रजक, सत्येंद्र यादव, सुनील खत्री, अवधेश यादव, रामजीत राम, जटू राम, दारा भुईयां उपस्थित रहे। सभी ने कहा कि पहले चरण में आंदोलन 22 नवंबर तक चलेगा। बंदी दीनानाथ प्रजापति, सुनील खत्री, सूबेदार यादव, रामजन्म यादव, सीताराम भुईयां ने कहा कि पुलिसिया दमन के खिलाफ संघर्ष जारी रहेगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आज के दिन शहीद हुए थे आजादी के सात मतवाले

भारत छोड़ों आंदोलन के दौरान 11 अगस्त को शहीद हुए थे जगतपति कुमार समेत आजादी के सात मतवाले,

सेक्स और शादी...क्या-क्या नियम बना रखे हैं नक्सलियों ने